Public Haryana News Logo

रानी मुखर्जी ने किया वो कमाल जिसके लिए लॉकडाउन के बाद से तरस रहा बॉलीवुड, आयुष्मान-राजकुमार राव को मिलेगी उम्मीद!

 | 
2013 के बाद से देखें तो लेटेस्ट फिल्म मिलाकर, रानी ने गिनी चुनी 5 फिल्में की हैं. इनमें से केवल एक 'बंटी और बबली 2' बॉक्स ऑफिस पर नाकाम रही. जबकि 'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' के अलावा उनकी 'मर्दानी' 'हिचकी' और 'मर्दानी 2' अच्छी हिट्स रहीं.  बॉलीवुड के लिए एक अच्छा संकेत!  लॉकडाउन के बाद से दोबारा खुले थिएटर्स में मिड-बजट फिल्मों का हाल बहुत अच्छा नहीं रहा है. जबकि ये ऐसा सेगमेंट था जिसने आयुष्मान खुराना और राजकुमार राव जैसे कलाकारों को पॉपुलैरिटी दिलाई. सिर्फ आयुष्मान की ही 4 फिल्में- चंडीगढ़ करे आशिकी, अनेक, डॉक्टर जी और एन एक्शन हीरो, बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुईं. जबकि लॉकडाउन से पहले उनकी लगातार 8 फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कामयाब रहीं.   जबकि राजकुमार राव की आखिरी हिट 2018 में आई 'स्त्री' ही है. लॉकडाउन खुलने के बाद से उनकी भी 4 फिल्में- रूही, बधाई दो, हिट और भीड़ थिएटर्स में नाकाम रही हैं. जबकि आयुष्मान और राजकुमार दोनों की ही फ्लॉप फिल्मों में कोई ऐसी फिल्म नहीं है, जिसे रिव्यू खराब मिले हों.   बॉक्स ऑफिस का ट्रेंड कहता है कि लॉकडाउन के बाद से जनता ग्रैंड, एक्शन भरे सिनेमेटिक एंटरटेनमेंट के लिए थिएटर्स जाना ज्यादा पसंद कर रही है. इसमें 'द कश्मीर फाइल्स' एक एक्सेप्शन थी. एक्शन और मसाला फिल्मों के इस लगातार मिल रहे डोज के बाद, शायद जनता अब फिर से दूसरी फिल्मो को मौका देने के मूड में आ रही है. रणबीर-श्रद्धा कपूर की 'तू झूठी मैं मक्कार' का हिट होना भी यही इशारा करता है. ऊपर से अब रानी की सॉलिड कंटेंट वाली फिल्म का छोटे स्केल पर ही सही, मगर कामयाब होना बॉलीवुड के लिए एक नई उम्मीद लेकर आएगा.

बॉलीवुड की सबसे सॉलिड एक्ट्रेसेज में गिनी जाने वाली रानी मुखर्जी, पिछले कुछ साल में एक कल्ट बनती जा रही हैं. पिछली कुछ फिल्मों में रानी जिस तरह की फिल्में कर रही हैं उन्हें दर्शक काफी पसंद कर रहे हैं. उनकी लेटेस्ट रिलीज 'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' की कहानी भी दर्शकों को पसंद आई और फिल्म को अच्छे रिव्यू भी मिले. 

थिएटर्स में 'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' 17 मार्च को रिलीज हुई थी. रानी की फिल्म जिस समय आई, तब रणबीर कपूर की 'तू झूठी मैं मक्कार' पहले से थिएटर्स में अच्छी कमाई कर रही थी. बीच में ही, 30 मार्च को अजय देवगन की मास एंटरटेनर 'भोला' भी थिएटर्स में रिलीज हुई और इसने भी बॉक्स ऑफिस पर कॉम्पिटिशन बढ़ाया. लेकिन लिमिटेड स्क्रीन्स पर रिलीज हुई 'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' ने एक तरफ अपनी ऑडियंस बनाए रखी. अब आखिरकार रानी की फिल्म एक कामयाब फिल्म बन चुकी है. 

'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' का कलेक्शन 
करीब तीन हफ्ते पहले रिलीज हुई रानी की फिल्म, बॉक्स ऑफिस पर 30 करोड़ से ज्यादा ग्रॉस कलेक्शन कर चुकी है. सैकनिल्क के अनुसार, फिल्म का वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन करीब 33 करोड़ रुपये हो चुका है. जबकि भारत में ही 'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' की कमाई 20 करोड़ पहुंच चुकी है. रिपोर्ट्स के अनुसार, फिल्म का बजट करीब 25 करोड़ रुपये था और इस हिसाब से अब 'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' प्रॉफिट देने वाला प्रोजेक्ट बन चुकी है. 

2013 के बाद से देखें तो लेटेस्ट फिल्म मिलाकर, रानी ने गिनी चुनी 5 फिल्में की हैं. इनमें से केवल एक 'बंटी और बबली 2' बॉक्स ऑफिस पर नाकाम रही. जबकि 'मिसेज चैटर्जी वर्सेज नॉर्वे' के अलावा उनकी 'मर्दानी' 'हिचकी' और 'मर्दानी 2' अच्छी हिट्स रहीं.

बॉलीवुड के लिए एक अच्छा संकेत! 
लॉकडाउन के बाद से दोबारा खुले थिएटर्स में मिड-बजट फिल्मों का हाल बहुत अच्छा नहीं रहा है. जबकि ये ऐसा सेगमेंट था जिसने आयुष्मान खुराना और राजकुमार राव जैसे कलाकारों को पॉपुलैरिटी दिलाई. सिर्फ आयुष्मान की ही 4 फिल्में- चंडीगढ़ करे आशिकी, अनेक, डॉक्टर जी और एन एक्शन हीरो, बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुईं. जबकि लॉकडाउन से पहले उनकी लगातार 8 फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कामयाब रहीं. 

जबकि राजकुमार राव की आखिरी हिट 2018 में आई 'स्त्री' ही है. लॉकडाउन खुलने के बाद से उनकी भी 4 फिल्में- रूही, बधाई दो, हिट और भीड़ थिएटर्स में नाकाम रही हैं. जबकि आयुष्मान और राजकुमार दोनों की ही फ्लॉप फिल्मों में कोई ऐसी फिल्म नहीं है, जिसे रिव्यू खराब मिले हों. 

बॉक्स ऑफिस का ट्रेंड कहता है कि लॉकडाउन के बाद से जनता ग्रैंड, एक्शन भरे सिनेमेटिक एंटरटेनमेंट के लिए थिएटर्स जाना ज्यादा पसंद कर रही है. इसमें 'द कश्मीर फाइल्स' एक एक्सेप्शन थी. एक्शन और मसाला फिल्मों के इस लगातार मिल रहे डोज के बाद, शायद जनता अब फिर से दूसरी फिल्मो को मौका देने के मूड में आ रही है. रणबीर-श्रद्धा कपूर की 'तू झूठी मैं मक्कार' का हिट होना भी यही इशारा करता है. ऊपर से अब रानी की सॉलिड कंटेंट वाली फिल्म का छोटे स्केल पर ही सही, मगर कामयाब होना बॉलीवुड के लिए एक नई उम्मीद लेकर आएगा. 

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here