Public Haryana News Logo

चाणक्‍य नीति: इन जगहों पर जाने के बाद नहाएं इंसान, वरना पड़ेगा बुरा असर

 | 
Chanakya niti: इन जगहों पर जाने के बाद आदमी अवश्य करें स्नान, वरना होगा बुरा असर
 

Chanakya niti: चाणक्य एक प्राचीन भारतीय राजनीतिज्ञ थे। भारतीय इतिहास में उन्हें एक महत्वपूर्ण व्यक्तित्व माना जाता है, जिन्होंने अपने ग्रंथ अर्थशास्त्र और चाणक्य नीति के माध्यम से विभिन्न विषयों पर ज्ञान प्रदान किया।

आपको बता दें कि चाणक्य का विशेष ध्यान राजनीति, वित्त, अर्थशास्त्र और नीतिशास्त्र पर था। उन्होंने भारतीय समाज के संगठन, शासन और नैतिकता में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

वह मौर्य साम्राज्य के सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के सलाहकार भी थे। आपको बता दें कि चाणक्य का समय ईसा पूर्व चौथी या तीसरी शताब्दी के आसपास माना जाता है। उन्होंने भारतीय इतिहास में अपनी शिक्षाओं और नीतियों से समाज की स्थापना की। उनकी नीतियों में राजनीति, युद्ध, धर्म, आर्थिक व्यवस्था और समाज के विभिन्न पहलुओं पर विचार किया गया।

हैं और व्यक्ति पवित्र हो जाता है। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको उन कामों के बारे में बताएंगे जिन्हें नहाने के बाद करना चाहिए।

कब्रिस्तान

-चाणक्य नीति में बताया गया है कि श्मशान से आने के बाद तुरंत स्नान कर लेना चाहिए। इतना ही नहीं आप जो कपड़े, चप्पल आदि पहन रहे हैं उन्हें भी साबुन से धोना चाहिए। नहीं तो भविष्य में आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

दरअसल, श्मशान घाट पर कई तरह की नकारात्मक शक्तियां मौजूद रहती हैं। जिसका सीधा असर आपके मन और मस्तिष्क पर पड़ता है। इसलिए वहां से वापस आकर स्नान करना चाहिए, जिससे मन शुद्ध हो जाता है।

तेल मालिश

आचार्य चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को शरीर पर तेल मालिश करने के बाद नहाना चाहिए। इसके कई फायदे हैं.दरअसल, तेल लगाने के बाद शव बाहर आ जाते हैं। इसलिए नहाना जरूरी है. इससे आपके शरीर से गंदगी बाहर निकल जाएगी और आप तरोताजा महसूस करेंगे।

बाल कटाना

चाणक्य नीति में बताया गया है कि जब भी आप बाल कटवाएं या दाढ़ी कटवाएं तो घर आकर स्नान जरूर करें। ऐसा करना बहुत फायदेमंद होता है.

दरअसल, कटे हुए बाल आपके शरीर के कई हिस्सों पर चिपक जाते हैं, जिससे परेशानी हो सकती है। इसलिए अच्छे से नहा लें, जिससे आपकी ये परेशानी खत्म हो जाएगी और आपको आराम महसूस होगा।

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here