Public Haryana News Logo

रोहित गोदारा: सुखदेव सिंह की हत्या की जिम्मेदारी लेने वाला रोहित गोदारा कौन है? पुलिस की पकड़ से दूर क्यों है?

 | 
Rohit Godara Profile
 

Rohit Godara Profile: राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. अपराधियों ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वे बेखौफ किसी की भी जान ले सकते हैं. सुखदेव सिंह की हत्या भी ऐसे ही की गई. हत्या के घंटे भर बाद ही गैंगस्टर रोहित गोदारा ने इसकी जिम्मेदारी भी ले ली. रोहित गोदारा लॉरेंस बिश्नोई गैंग का कुख्यात अपराधी है. आइये जानते हैं कौन है रोहित गोदारा और उसके आपराधिक इतिहास के बारे में.

32 से ज्यादा मामले दर्ज

रोहित गोदारा राजस्थान के बीकानेर के लूणकरण का रहने वाला है. गोदारा पर गंभीर अपराध के करीब 32 से ज्यादा मामले दर्ज हैं. रोहित ने 2010 में अपराध की दुनिया में कदम रखा और एक के बाद एक अब तक कई घटनाओं को अंजाम दे चुका है. वो राजस्थान में कारोबारियों से 5 करोड़ से लेकर 17 करोड़ तक की रंगदारी मांग चुका है. गोदारा पर राजस्थान के सीकर में गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या का भी आरोप है.

गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या

पिछले साल सीकर में गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या की जिम्मेदारी रोहित गोदारा ने फेसबुक पर ली थी. उस दौरान रोहित गोदारा ने कहा था कि ठेहट को मारकर आनंदपाल सिंह और बलवीर बानूड़ा की मौत का बदला लिया गया. पंजाबी सिंगर सिद्धू मुसेवाला की हत्या में रोहित गोदारा का नाम आया था. रोहित लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग के लिए काम करता है.

भाग गया दुबई

कई मामलों में वह 15 बार जेल जा चुका था. तमाम अपराध को अंजाम देने के बाद रोहित गोदारा पुलिस की हिट लिस्ट में आ गया था. उसके सिर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही थी.  गिरफ्तारी से बचने के लिए 13 जून 2022 को वो दिल्ली से फर्जी पासपोर्ट पर दुबई भाग गया. फर्जी पासपोर्ट में उसने अपना नाम पवन कुमार लिखवाया था. पुलिस ने उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया है. पुलिस सूत्रों की मानें तो वर्तमान में रोहित गोदारा ने अपना ठिकाना कनाडा को बना लिया है.

गोगामेड़ी की हत्या

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की मंगलवार को जयपुर में हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी. इसके तुरंत बाद, कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के गिरोह के अपराधी रोहित गोदारा ने हत्या की जिम्मेदारी ली. सुखदेव सिंह के जयपुर में स्थित घर पर पहुंचे. अपराधियों ने कुछ देर तक सुखदेव और उनके सहयोगियों से बात की. अचानक हमालवरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. गोली लगने के तुरंत बाद गोगामेड़ी फर्श पर गिर गए. उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्होंने दम तोड़ दिया.

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here