Public Haryana News Logo

No AC on Indigo Flight: इंडिगो की फ्लाइट में नहीं चला AC, पसीने से लथपथ हुए यात्री, कांग्रेस नेता ने शेयर किया वीडियो

 | 
इंडिगो की फ्लाइट में नहीं चला AC, पसीने से लथपथ हुए यात्री, कांग्रेस नेता ने शेयर किया वीडियो
 

No AC on Indigo Flight: पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वाडिंग (Amarinder Singh Raja Warring) ने शनिवार को चंडीगढ़ से जयपुर जाने वाली इंडिगो एयरलाइंस की उड़ान (Indigo Flight) में यात्रा करते समय ‘सबसे भयावह अनुभवों में से एक’ शेयर किया. पंजाब कांग्रेस कमेटी ( PCC) के अध्यक्ष राजा वाडिंग के मुताबिक इंडिगो विमान 6E7261 चंडीगढ़ से उड़ान भर रहा था, मगर उसमें एसी (AC) नहीं चल रहा था. शनिवार को खराब एयर कंडीशनिंग सिस्टम के साथ ही फ्लाइट ने उड़ान भरी, जिससे यात्रियों को पूरी यात्रा के दौरान “भारी कष्ट” झेलना पड़ा. कांग्रेस (Congress) नेता ने ट्वीट करके कहा कि ‘हमें चिलचिलाती धूप में कतार में लगभग 10-15 मिनट तक इंतजार करने के लिए मजबूर किया गया. जब हम विमान में दाखिल हुए, तो हैरान रह गए. एसी काम नहीं कर रहे थे और फ्लाइट बिना एसी चालू किए ही उड़ान भर गई!’

उन्होंने एक वीडियो भी पोस्ट किया जिसमें यात्रियों को कार्डबोर्ड और सेफ्टी बुकलेट्स को हाथों के पंखे के रूप में उपयोग करते हुए दिखाया गया है. वाडिंग ने आगे आरोप लगाया कि ‘उड़ान के दौरान किसी ने भी इस समस्या को दूर नहीं किया’ और यात्रियों को अपना पसीना और सीटें पोंछने के लिए टिशू पेपर बांट दिए गए. वाडिंग ने नागरिक उड्डयन महानिदेशक (DGCA) से इस घटना पर इंडिगो एयरलाइंस और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आग्रह किया.

 

कांग्रेस के नेता वडिंग ने कहा कि ‘उड़ान भरने से लेकर लैंडिंग तक, एसी बंद थे और पूरी यात्रा के दौरान सभी यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी. उड़ान के दौरान किसी ने भी इस गंभीर समस्या को दूर नहीं किया. वास्तव में एयर होस्टेस ने ‘उदारतापूर्वक’ यात्रियों को उनका पसीना पोंछने के लिए टिशू पेपर बांट दिए.’ कांग्रेस नेता ने आगे इंडिगो एयरलाइंस पर केवल पैसे कमाने के लिए प्रमुख तकनीकी मुद्दे को नजरअंदाज करके यात्रियों के स्वास्थ्य और आराम को दांव पर लगाने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि ‘महिलाओं और बच्चों सहित अधिकांश यात्री बेचैन और परेशान थे, जिसे वीडियो में साफ रूप से देखा जा सकता है. बेबस यात्री ठंडक पाने के लिए कागजों से हवा कर रहे थे. यह साफ रूप से एक बड़ा तकनीकी मुद्दा था, लेकिन संबंधित अधिकारी सिर्फ पैसा कमाना चाहते थे. इसीलिए यात्रियों के स्वास्थ्य और आराम को दांव पर लगा दिया गया था.’

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here