Public Haryana News Logo

हरियाणा सरकार द्वारा सेवानिवृत्त पत्रकारों को दी जाने वाली पेंशन के बाद कामें भी होना चाहिए: चंद्रशेखर धरणी

 | 
हरियाणा सरकार द्वारा पापराशि को जाने वाली पेंशन के बाद भी होना चाहिए: चंद्रशेखर धरणी
 चंडीगढ़ (धरणी) : मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) की कोर कमेटी द्वारा जम्मू कश्मीर के श्रीनगर के सोन मार्ग में एक बेहद महत्वपूर्ण बैठक के आयोजित की गई। मुख्य एजेंडा जम्मू एंड कश्मीर में संस्था की प्रांतीय इकाई का गठन करना था। कोर कमेटी द्वारा ऐसी प्रांतीय इकाई का गठन किया गया मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) के अध्यक्ष चंद्रशेखर धरणी ने जम्मू कश्मीर के अध्यक्ष पद के लिए मीर आफताब के नाम की विधिवत घोषणा की। संस्था द्वारा आफताब को सभी 20 जिलों की इकाइयां गठित करने के अधिकार भी सौंपे गए। इस मौके पर क्षेत्रीय पत्रकारों द्वारा संस्था के अध्यक्ष चंद्रशेखर धरणी के सामने कई समस्याएं भी रखी गई, जिस बाबत संस्था जल्द एक लिखित ज्ञापन केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर तथा उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को भी भेजेगी। साथ ही संस्था हरियाणा की तर्ज पर जम्मू एंड कश्मीर (यूटी) के पत्रकारों के लिए भी सुविधाएं दिए जाने की मांग करेगी।

इस मौके पर 10-10 लाख रुपए की एक्सीडेंटल पॉलिसी की भी लॉन्चिंग की गई। बैठक में मुख्यअतिथि के तौर पर संस्था के उत्तरभारत अध्यक्ष चंद्रशेखर धरणी- महासचिव सुरेंद्र मेहता तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में संस्था के वरिष्ठ उपाध्यक्ष भुवनेश झंडई ने शिरकत की तथा संस्था के कोषाध्यक्ष तरुण कपूर ने अध्यक्षता की। इस मौके पर सभी  नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष मीर आफताब को बधाई और शुभकामनाएं दी, वही आफताब ने कहा कि पत्रकारों की भलाई के लिए हर मुमकिन प्रयास जारी रखूंगा।जम्मू कश्मीर के पत्रकारों द्वारा हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज व मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा पत्रकारों के हितेषी होने की भी चर्चा खुले रूप से सामने आई।

धारा 370 हटने के बाद जे.के. में बदलना चाहिए पत्रकारिता का स्वरूप :धरणी

चंद्रशेखर धरणी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटने के बावजूद पत्रकारिता का स्वरूप नहीं बदला। हरियाणा की तर्ज पर जम्मू एंड कश्मीर के पत्रकारों के लिए भी योजनाओं का निर्माण हो, रिटायरमेंट के बाद पेंशन की सुविधा उपलब्ध हो, इस प्रकार की तमाम मांगों के साथ संस्था उच्च स्तर पर आवाज पहुंचाएगी। उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, पब्लिक रिलेशन विभाग के डायरेक्टर जनरल अमित अग्रवाल और विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजेश खुल्लर द्वारा पत्रकारों के लिए बनाई गई योजनाओं की भी खुलकर सराहना की।

 इस मौके पर उन्होंने प्रदेश के गृह- स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज द्वारा लगातार स्वतंत्र पत्रकारिता के लिए सहयोग और खुले मंच से पत्रकारों की आवाज बुलंद करने को लेकर उन्हें पत्रकारों के परम मित्र बताया तथा कहा कि उनके द्वारा पत्रकारों के साथ हमेशा दुख सुख में खड़े होना वास्तव में बेहद सराहना लायक है, उनकी आवाज पत्रकारों के सहयोग में एक रीड की हड्डी साबित होती रही है। धरणी ने कहा कि पत्रकारों को रिटायरमेंट के बाद पेंशन देने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सकारात्मक सोच के कारण पेंशन लागू हुई और फिर एसोसिएशन की मांग पर फूल चढ़ाते हुए मुख्यमंत्री द्वारा इसमें 1000 की बढ़ोतरी कर इसे 11,000 किया जाना संस्था के लिए बेहद विशेष बात है और मुख्यमंत्री के इस फैसले की संस्था खुले दिल से शुक्रगुजार है।


हरियाणा की तर्ज पर सभी प्रदेशों में पत्रकारों को लाभ मिले, इस टारगेट को लेकर बढ़ रही संस्था :धरणी

इस मौके पर चंद्रशेखर धरणी ने कहा कि यह मात्र शुरुआत है और यह सिलसिला आगे लगातार बढ़ता रहेगा। संस्था ने लगातार अपने पंखों का विस्तार किया है। हरियाणा से शुरू होकर आज संस्था पांच राज्यों में विस्तार कर चुकी है। हरियाणा की तरह पंजाब- हिमाचलप्रदेश- जम्मू कश्मीर और चंडीगढ़ में जल्द जिला स्तरीय इकाइयों का गठन जल्द हो जाएगा। सभी राज्यों में संस्था अपने सदस्य साथियों के 10-10 रुपए के दुर्घटना मृत्यु बीमा अपने खर्च पर करवा कर देगी। क्योंकि बेहद जोखिम भरे कार्य पत्रकारिता में कई बार देखा गया है कि उनके बाद उनके परिवार की रक्षा और सुरक्षा केवल भगवान भरोसे रहती है। इस नियत और नियति के साथ संस्था द्वारा उनके परिवार के भविष्य को ध्यान में रखते हुए इस प्रकार का फैसला लिया गया है। 

धरणी ने कहा कि केवल संगठनात्मक रूप से नहीं हम सभी दुख सुख में साथी बने रहेंगे। पत्रकार समाज में आने वाली दिक्कतों के दौरान संस्था पत्रकारों के साथ हमेशा खड़ी रहेगी। चौथा स्तंभ बेशक पत्रकारिता को कहा गया लेकिन रक्षा और सुरक्षा के लिए कोई ठोस कदम अधिकतर सरकारों द्वारा नहीं उठाए जाते। जबकि हरियाणा सरकार द्वारा लगातार पत्रकारों के हितों में फैसले लिए गए हैं। पत्रकारों को मान्यता दिया जाना भी हरियाणा सरकार का लाजवाब कदम है। इसी प्रकार से जम्मू कश्मीर के पत्रकारों को ही नहीं सभी राज्यों के पत्रकारों को भी लाभ मिले, इस टारगेट के साथ संस्था आगे बढ़ेगी।

संस्था जल्द एडवाइजरी कमेटी का भी करेगी गठन :धरणी

चंद्रशेखर धरणी ने कहा कि जम्मू एंड कश्मीर (यूटी) एक ऐसा राज्य रहा जहां मीडिया के साथियों का उत्तर भारत के पत्रकारों के साथ ज्यादा कोर्डिनेशन कभी नहीं रहा। लेकिन अब एक परिवार के रूप में एक दूसरे के दुख सुख के साथी बनेंगे। धरणी ने बताया कि कोर कमेटी की बैठक में मीर आफताब को प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया था, जिसके लिए संस्था ने रेजुलेशन पास किया था, लेकिन आज सोनबर्ग में इसकी विधिवत घोषणा कर रहा हूं। मीर आफताब को सभी 20 जिलों में बॉडी बनाने के अधिकार भी सौंपे गए हैं। उन्होंने कहा कि जल्द कुछ चैनल, न्यूज़ पेपर के एडिटर लेवल के वरिष्ठ पत्रकारों की एक एडवाइजरी कमेटी भी घोषित की जाएगी। जिसका सीधे तौर पर प्रादेशिक एसोसिएशन में हस्तक्षेप नहीं रहेगा। लेकिन वह रीड की हड्डी का काम करेगी। जम्मू एंड कश्मीर में कार्यरत वरिष्ठ पत्रकारों का भी हमेशा आप लोगों को सहयोग मिलेगा।

पत्रकार समाज की समस्याओं का समाधान और इनकी भलाई के कार्य ही संस्था का एकमात्र उद्देश्य :मेहता

इस मौके पर संस्था के महासचिव सुरेंद्र मेहता ने कहा कि मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) के कुनबे का लगातार विस्तार होना एक बड़ी उपलब्धि है और यह इसकी पहचान है कि हम सही दिशा में है। उत्तर भारत के काफी संख्या में पत्रकार लगातार संस्था के साथ जुड़ रहे हैं। संस्था का महत्वपूर्ण उद्देश्य पत्रकारों के सामने आने वाली समस्याओं का समाधान और लगातार पत्रकारों के भलाई के कार्य करना है। 

इसी उद्देश्य से संस्था का गठन हुआ और हरियाणा के गृह- स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के सहयोग के लिए लगातार संस्था उनकी धन्यवादी है। हरियाणा के सभी जिलों में इकाइयों का गठन हो चुका है। पंजाब और हिमाचल संगठन को लेकर लगातार कार्य किया जा रहा है। जम्मू एंड कश्मीर में संस्था की स्थापना हुई यह बेहद खुशी की बात है। काफी पत्रकार जम्मू कश्मीर में संस्था के साथ जुड़ चुके हैं। संस्था जम्मू कश्मीर के पत्रकारों के हितों के लिए जल्द केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर से मिलेगी। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से भी संस्था महत्वपूर्ण कदम उठाए जाने की मांग करेगी। मेहता ने कहा कि 10-10 लाख रुपए के बीमा बिना कोई शुल्क लिए करवाए जाने वाली मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) पहली संस्था है। इसलिए संस्था का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है।


पत्रकारों को लाभान्वित करने के लिए सरकारें उठाएं कदम : कपूर

संस्था के कोषाध्यक्ष तरुण कपूर ने नवनियुक्त जम्मू कश्मीर अध्यक्ष मीर आफताब को उनकी नियुक्ति के लिए बधाई देते हुए कहा कि हम सभी देश के लिए ही कार्य कर रहे हैं, लगातार आगे बढ़ते हैं, समाज को अच्छी दिशा देने के लिए पत्रकार लगातार अपने परिवारों को भी अनदेखा करता है, लेकिन आमतौर पर इस जद्दोजहद में पत्रकार आर्थिक रूप से पिछड़ता है, इसलिए तमाम सरकारों को इस महत्वपूर्ण विषय की ओर ध्यान देते हुए पत्रकारों को लाभान्वित करने वाले कदम उठाने चाहिए।

पत्रकारों को सुरक्षा का आवरण प्रदान करेगी एसोसिएशन :झंडई

इस मौके पर संस्था के वरिष्ठ उपाध्यक्ष भुवनेश झंडई ने कहा कि यह कई राज्यों का मिलन है। कई दिलों का मिलन है और प्यार का मिलन है। आज बेहद महत्वपूर्ण बैठक थी। इसके लिए नवनियुक्त अध्यक्ष मीर आफताब को बधाई और उम्मीद करता हूं कि आगे भी यह मिलन बढ़ता रहेगा। परिवारों से परिवार मिलते रहेंगे और मिली हुई इस जिम्मेदारी को मीर आफताब अच्छे तरीके से पत्रकारों के हितों में कार्य करते हुए निभाएंगे। पत्रकार समाज देश के लिए जिस प्रकार से समर्पित भाव रखता है, उनके हौसले इसी तरह से बुलंद रहें, इसके लिए एक सुरक्षा का आवरण अति आवश्यक है जो मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) प्रदान करेगी।

हर कदम पर पत्रकारों के साथ- पत्रकारों के लिए खड़ा रहूंगा : आफताब

मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) के नवनियुक्त जम्मू कश्मीर अध्यक्ष मीर आफताब ने कहा कि मीडिया देश के लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है, लेकिन आज तक मीडिया की और कोई खासा ध्यान सरकारों द्वारा नहीं दिया गया। संस्थाएं भी बहुत सी बनी, लेकिन ग्राउंड लेवल पर कोई ठोस कदम संस्था द्वारा भी नहीं उठाया गया। जिस प्रकार से मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) ने अपने खर्च से 10-10 लाख के बीमें पत्रकारों के करवाएं यह उनकी नेक नियति का प्रमाण है। जम्मू कश्मीर जैसे राज्य में बेहद मुश्किलों से पत्रकार समाज कार्य करता है। बहुत से हादसे भी पत्रकारों के साथ समय समय पर होते रहे हैं। लेकिन उनके बाद उनके परिवारों को पूछने वाला कोई नहीं होता। लेकिन मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) द्वारा ना केवल यह बीमा योजना बल्कि अस्पतालों में उपचाराधीन के दौरान कई पत्रकारों को आर्थिक सहायता तथा मृत्यु उपरांत पत्रकारों के परिवारों को भी निजी कोष से आर्थिक सहायता का सहयोग दिया जाना वास्तव में उन्हें सबसे अलग खड़ा करती है। 

जिस बड़ी जिम्मेदारी के साथ संस्था ने मुझे सम्मान बख्शा है, मैं हर कदम पर पत्रकारों के साथ- पत्रकारों के लिए खड़ा रहूंगा। मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) द्वारा जो इंश्योरेंस क्लेम की सिक्योरिटी पत्रकारों के परिवारों को लिए गिफ्ट में दी गई है, मैं उसके लिए संस्था का शुक्रगुजार हूं। जम्मू एंड कश्मीर के हालातों को देखते हुए पत्रकार बेहद डर के साए में काम करने को मजबूर रहते हैं, लेकिन संस्था के इस आशीर्वाद से कहीं ना कहीं पत्रकारों को एक आंतरिक ताकत मिलेगी। जिसके लिए यहां का पत्रकार समाज संस्था का धन्यवाद करता है।

निस्वार्थ पत्रकार समाज के लिए समर्पित यह संस्था : वरिष्ठ पत्रकार

इस मौके पर जम्मू कश्मीर के वरिष्ठ पत्रकार फिरोज अहमद खान, मुख्त्यार अहमद शाह, फिरदौस अहमद, आकिब रसूल ने भी संस्था के इस पहल को सराहनीय बताते हुए कहा कि मीर आफताब जैसे व्यक्तित्व का चयन वास्तव में संस्था की नेक नियति का प्रमाण है। आफताब लगातार पत्रकार समाज के हितों में लड़ाई लड़ने वाले शख्स है। उन्होंने संस्था के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि आज आधुनिकता के साथ-साथ पत्रकार समाज के आर्थिक हालात बुरे हुए हैं। जम्मू कश्मीर में बहुत सी संस्थाएं एक्टिव है। लेकिन पत्रकारों की भलाई के लिए कोई ठोस कदम उठाती नहीं देखी गई। मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) लगातार जिस प्रकार से पांच राज्यों में अपना विस्तार कर चुकी है, जिस प्रकार से संस्था के कुनबे में विस्तार हुआ है, यह इस बात का प्रमाण है कि निस्वार्थ - बिना लालच के संस्था पत्रकार समाज के लिए समर्पित है।

इस मौके पर संस्था के महासचिव सुरेंद्र मेहता ने कहा कि मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) के कुनबे का लगातार विस्तार होना एक बड़ी उपलब्धि है और यह इसकी पहचान है कि हम सही दिशा में है। उत्तर भारत के काफी संख्या में पत्रकार लगातार संस्था के साथ जुड़ रहे हैं। संस्था का महत्वपूर्ण उद्देश्य पत्रकारों के सामने आने वाली समस्याओं का समाधान और लगातार पत्रकारों के भलाई के कार्य करना है। 

इसी उद्देश्य से संस्था का गठन हुआ और हरियाणा के गृह- स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के सहयोग के लिए लगातार संस्था उनकी धन्यवादी है। हरियाणा के सभी जिलों में इकाइयों का गठन हो चुका है। पंजाब और हिमाचल संगठन को लेकर लगातार कार्य किया जा रहा है। जम्मू एंड कश्मीर में संस्था की स्थापना हुई यह बेहद खुशी की बात है। काफी पत्रकार जम्मू कश्मीर में संस्था के साथ जुड़ चुके हैं। संस्था जम्मू कश्मीर के पत्रकारों के हितों के लिए जल्द केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर से मिलेगी। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से भी संस्था महत्वपूर्ण कदम उठाए जाने की मांग करेगी। मेहता ने कहा कि 10-10 लाख रुपए के बीमा बिना कोई शुल्क लिए करवाए जाने वाली मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) पहली संस्था है। इसलिए संस्था का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है।


पत्रकारों को लाभान्वित करने के लिए सरकारें उठाएं कदम : कपूर

संस्था के कोषाध्यक्ष तरुण कपूर ने नवनियुक्त जम्मू कश्मीर अध्यक्ष मीर आफताब को उनकी नियुक्ति के लिए बधाई देते हुए कहा कि हम सभी देश के लिए ही कार्य कर रहे हैं, लगातार आगे बढ़ते हैं, समाज को अच्छी दिशा देने के लिए पत्रकार लगातार अपने परिवारों को भी अनदेखा करता है, लेकिन आमतौर पर इस जद्दोजहद में पत्रकार आर्थिक रूप से पिछड़ता है, इसलिए तमाम सरकारों को इस महत्वपूर्ण विषय की ओर ध्यान देते हुए पत्रकारों को लाभान्वित करने वाले कदम उठाने चाहिए।

पत्रकारों को सुरक्षा का आवरण प्रदान करेगी एसोसिएशन :झंडई

इस मौके पर संस्था के वरिष्ठ उपाध्यक्ष भुवनेश झंडई ने कहा कि यह कई राज्यों का मिलन है। कई दिलों का मिलन है और प्यार का मिलन है। आज बेहद महत्वपूर्ण बैठक थी। इसके लिए नवनियुक्त अध्यक्ष मीर आफताब को बधाई और उम्मीद करता हूं कि आगे भी यह मिलन बढ़ता रहेगा। परिवारों से परिवार मिलते रहेंगे और मिली हुई इस जिम्मेदारी को मीर आफताब अच्छे तरीके से पत्रकारों के हितों में कार्य करते हुए निभाएंगे। पत्रकार समाज देश के लिए जिस प्रकार से समर्पित भाव रखता है, उनके हौसले इसी तरह से बुलंद रहें, इसके लिए एक सुरक्षा का आवरण अति आवश्यक है जो मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) प्रदान करेगी।

हर कदम पर पत्रकारों के साथ- पत्रकारों के लिए खड़ा रहूंगा : आफताब

मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) के नवनियुक्त जम्मू कश्मीर अध्यक्ष मीर आफताब ने कहा कि मीडिया देश के लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है, लेकिन आज तक मीडिया की और कोई खासा ध्यान सरकारों द्वारा नहीं दिया गया। संस्थाएं भी बहुत सी बनी, लेकिन ग्राउंड लेवल पर कोई ठोस कदम संस्था द्वारा भी नहीं उठाया गया। जिस प्रकार से मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) ने अपने खर्च से 10-10 लाख के बीमें पत्रकारों के करवाएं यह उनकी नेक नियति का प्रमाण है। जम्मू कश्मीर जैसे राज्य में बेहद मुश्किलों से पत्रकार समाज कार्य करता है। बहुत से हादसे भी पत्रकारों के साथ समय समय पर होते रहे हैं। 

लेकिन उनके बाद उनके परिवारों को पूछने वाला कोई नहीं होता। लेकिन मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) द्वारा ना केवल यह बीमा योजना बल्कि अस्पतालों में उपचाराधीन के दौरान कई पत्रकारों को आर्थिक सहायता तथा मृत्यु उपरांत पत्रकारों के परिवारों को भी निजी कोष से आर्थिक सहायता का सहयोग दिया जाना वास्तव में उन्हें सबसे अलग खड़ा करती है। जिस बड़ी जिम्मेदारी के साथ संस्था ने मुझे सम्मान बख्शा है, मैं हर कदम पर पत्रकारों के साथ- पत्रकारों के लिए खड़ा रहूंगा। मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) द्वारा जो इंश्योरेंस क्लेम की सिक्योरिटी पत्रकारों के परिवारों को लिए गिफ्ट में दी गई है, मैं उसके लिए संस्था का शुक्रगुजार हूं। जम्मू एंड कश्मीर के हालातों को देखते हुए पत्रकार बेहद डर के साए में काम करने को मजबूर रहते हैं, लेकिन संस्था के इस आशीर्वाद से कहीं ना कहीं पत्रकारों को एक आंतरिक ताकत मिलेगी। जिसके लिए यहां का पत्रकार समाज संस्था का धन्यवाद करता है।

निस्वार्थ पत्रकार समाज के लिए समर्पित यह संस्था : वरिष्ठ पत्रकार

इस मौके पर जम्मू कश्मीर के वरिष्ठ पत्रकार फिरोज अहमद खान, मुख्त्यार अहमद शाह, फिरदौस अहमद, आकिब रसूल ने भी संस्था के इस पहल को सराहनीय बताते हुए कहा कि मीर आफताब जैसे व्यक्तित्व का चयन वास्तव में संस्था की नेक नियति का प्रमाण है। आफताब लगातार पत्रकार समाज के हितों में लड़ाई लड़ने वाले शख्स है। उन्होंने संस्था के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि आज आधुनिकता के साथ-साथ पत्रकार समाज के आर्थिक हालात बुरे हुए हैं। जम्मू कश्मीर में बहुत सी संस्थाएं एक्टिव है। लेकिन पत्रकारों की भलाई के लिए कोई ठोस कदम उठाती नहीं देखी गई। मीडिया वेलबिंग एसोसिएशन (रजि0) लगातार जिस प्रकार से पांच राज्यों में अपना विस्तार कर चुकी है, जिस प्रकार से संस्था के कुनबे में विस्तार हुआ है, यह इस बात का प्रमाण है कि निस्वार्थ - बिना लालच के संस्था पत्रकार समाज के लिए समर्पित है।

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here