Public Haryana News Logo

जंतर-मंतर पर रेसलर्स के साथ जो हुआ, गलत हुआ', दिल्ली पुलिस के मामले में बोले सोनीपत के पहलवान

 | 
जंतर-मंतर पर रेसलर्स के साथ जो हुआ, गलत हुआ', दिल्ली पुलिस के मामले में बोले सोनीपत के पहलवान
 सोनीपत के पहलवानों का कहना है कि सीनियर रेसलर्स के साथ दिल्ली में ऐसा व्यवहार हो रहा है तो हम तो बहुत जूनियर हैं। हमारे साथ पता नहीं क्या होगा। वहीं कोच ने कहा कि जिन पहलवानों को मैदान में होना चाहिए वो धरना प्रदर्शन में लगे हैं। सरकार को इस पर तुरंत ध्यान देना चाहिए।
 

दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहलवानों ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ एक महीने तक धरना दिया, लेकिन जब पहलवान नए संसद भवन के सामने महिला महापंचायत के लिए जा रहे थे तो दिल्ली पुलिस के साथ उनका टकराव हुआ, जिसके बाद उनके तंबुओं को जंतर-मंतर से हटा दिया गया।  

इसको लेकर देशभर के पहलवान और कोचों की प्रतिक्रिया आई है। सोनीपत में महिला कोच का कहना है कि जिन खिलाड़ियों को मैदान में होना चाहिए, वह धरने पर बैठकर अपना समय खराब कर रहे हैं। सरकार को उनकी बातों को सुनना चाहिए और न्याय देना चाहिए। जिन खिलाड़ियों ने देश का नाम रोशन किया है, उनके साथ ऐसी घटना निंदनीय है। उनका कहना है कि अब युवा पहलवानों के परिवार वालों को भी अपने बेटे बेटियों के भविष्य की चिंता सताने लगी है। 


वहीं पहलवानों का कहना है कि जब हमारे सीनियर के साथ ऐसा दुर्व्यवहार हो रहा है तो हम तो बहुत जूनियर हैं। हम तो आगे जाकर कुछ भी नहीं कर सकते हैं आगे जाकर हमारे साथ भी ऐसा हो सकता है।  

शिक्षक खरब ने कहा कि पहलवानों के साथ जंतर-मंतर पर जो हुआ है, वह बहुत खराब है। बजरंग पूनिया जो पद्मश्री हैं। पहले उन्हें इतना बड़ा सम्मान दिया गया और अब उनके साथ ऐसा व्यवहार किया गया। देश का भविष्य खतरे में है, हमारे जैसे बच्चे ऐसी घटनाएं देखकर रेसलिंग से दूर ही हो जाएंगे। 

'इतने दिनों से नहीं हुई पहलवानों की सुनवाई'

सोनीपत में पहलवानों का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने पहलवानों के खिलाफ मामला दर्ज किया है वह बिल्कुल गलत तरीके से किया गया है। पहलवान शांतिपूर्ण तरीके से अपना प्रदर्शन करने जा रहे थे। जो सीनियर खिलाड़ी जंतर मंतर पर बैठे हैं, अपनी प्रैक्टिस छोड़कर बैठे हैं, वह गलत तो बैठे नहीं। उनके साथ कुछ हुआ है तो वह धरने पर बैठे हैं। इतने दिन से पहलवानों की सुनवाई नहीं की जा रही है।  

'पहलवानों पर एक्शन का अगली पीढ़ियों पर होगा असर'

पहलवानों के साथ जो हुआ वह आने वाली पीढ़ियों पर भी असर डाल रहा है। सरकार सीनियर खिलाड़ियों की इज्जत नहीं कर रही है। युवा खिलाड़ी गीतांजली चौधरी ने बताया कि बृजभूषण शरण पर जो आरोप लगाए हैं उन पर तो हम कुछ कह नहीं सकते, लेकिन जो सीनियर खिलाड़ी हैं उनके साथ जो कल हुआ है वह बहुत गलत हुआ है

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here