Movie prime

मनोहर लाल खट्टर ने  नहीं कोई सुनवाई तो खुद ही नहर साफ करने उतरे  गाँव  गुसाई आना  के किसान

 वैसे तो हरियाणा की भाजपा सरकार विकास के बड़े-बड़े दावे करती है लेकिन फिर भी कुछ गांव ऐसे हैं जहां सिंचाई तो दूर नहरों में पीने का पानी तक नहीं पहुंचता है।
 
अभी डेढ़ साल पहले एक और समाजसेवी मीनू बेनीवाल ने भी गाँव के लोगों से ये वायदा किया की आपकी पानी की समस्या आज से मेरी। उन्होंने कहा की दोनों छोटी नहरों का टेल मैं आगे बढ़वा दूंगा और पानी भी इनमे पूरा करवा दूंगा। ये एलनाबाद में हुए उपचुनाव के दौरान किया गया वादा था जो आजतक वादा ही रहा है।
 हरियाणा सरकार इस समय बड़े पैमाने पर बड़े-बड़े दावे करती नजर आती है विकास और जनहितेषी कामों के। लेकिन पूरी विकास योजना कभी भी धरातल पर नहीं मिली है। हम इस समय सूबे के सबसे बड़े किसान जिले सिरसा के अंत पर बसे गांव से ये रिपोर्ट कर रहे हैं। गांव का नाम है गुसाईवाला, तीन तरफ इस गांव के राजस्थान की सीमा है। यानी सिर्फ 1 किलोमीटर ही दो तरफ राजस्थान शुरू हो जाता है।
वैसे तो गांव में काफी आधुनिक लोग रहते हैं, एक तरह से देखें तो यहां के लोगों के रहन शाहन को देखकर इसे लैट्रिया गांव नहीं कहा जा सकता। बिजली यहाँ पिछले कुछ वर्षों से अनवरत रहती है। गंदगी का जाल बिछाया जाता है और यहां से चार शहर 40 किलोमीटर से भी कम के दायरे में आ जाते हैं, जिसमें से दो राजस्थान के नोहर और भादरा हैं। लेकिन पानी का जब जिक्र आता है तो लोगों की आंखों में ही पानी आ जाता है।

सरकारें आती जा रही हैं और यहां पानी की समस्या पर किसी ने कभी ध्यान नहीं दिया। एक वो दौर भी था जब आसपास के आसपास के इलाके के लोग इस गांव के कुएं का पानी लेकर जाते थे, उसके बाद नहरें बनीं तो जो गांव इस गांव पर निर्भर थे पानी के लिए उन्हें पानी मिल गया लेकिन ये गांव पाया ही जा रहा है ।

आज ये हैं हालात की सिंचाई तो छोड़िए यहां लोगों के घरों में पीने का पानी तक नहीं आता। सरकार की तरफ से नहर की सफाई का कोई प्रबंध नहीं है। मजबूरी में गांव के ही लोग कस्सी से जुड़कर नहर की सफाई को निकलकर देखते हैं। इन लोगों को सालों में दो या तीन बार ऐसा करना पड़ता है तब जाकर कुछ पानी हासिल होता है। इतना कम पानी इस सफाई के बाद मिलता है कि किस किसान की सिंचाई योग्य 10 एकड़ जमीन है वो मुश्किल से अपने खेत में 2-3 एकड़ बुवाई कर पाता है।

बाकी जमीन को लोग खारे पानी के ट्यूबवेल से सींचते हैं या फिर रामभरोसे बरसात का इंतजार करते हैं। गर्मी के मौसम में पानी की कमी का हाल ये है की गांव के चारों तरफ दो किलोमीटर के दायरे में पांच नहरें होने के बाद भी लोग अपने घर में पानी का संचयन डिग्गी में टैंकर से पानी डालवाना देते हैं जिसका किराया ही 300 से 500 के इस बीच होता है और ऐसी गर्मी के मौसम में हर परिवार को 4-5 बार रखना पड़ता है।

पिछले लगभग 30 साल से नहर और खालों पर सेवा दे रहे किसान रामकरण माली ने कहा कि हमें ये काम करने में कोई परेशानी नहीं, बस हमें पानी मिल जाए। आज नहर पर गाँव के करीब 40 से भी अधिक लोग पानी के लिए मेहनत कर रहे हैं, तेजपाल बेदा, मुकेश गोदारा, वजीर खालिया, बलराम बेनीवाल, रामु न्योल, राहुल खोड, नरेश, मनीराम, राजपाल, नोरंग, रामेश्वर माली, सांवर बिश्नोई, रमेश खोड, पृथ्वी सिंह, अजित, भीम, कृष्ण भारी, रायसिंह बेनिवाल, राय साब माली, राजमल, श्रवण, मुकेश बड़जाती, रोहताश, दरिया सिंह, दलीप धाड़ीवाल, डूंगर मल, रामनिवास खोड, भाल सिंह माली, लादू शर्मा, सुरेश, कृष्ण नायक, मीठू और विनोद खोड, सोहन लाल माली, महावीर खालिया आदि लोग मौजूद थे।

पानी इस गांव की सबसे बड़ी समस्या है

पानी के मुद्दों पर यहां के पंचायती इलेक्शन तक लड़े जाते हैं। अभी पिछले कुछ महीनों में पंचायतों के कार्यकाल के बारे में कहा गया है कि सरपंचों की सरपंचों में विनोद ने ये गांव से किया था की मेरे जीतने के बाद गांव के जल कार्यों में पानी की कोई कमी नहीं रहेगी। लेकिन अपने 6 साल के कार्यकाल में भरसक कोशिश के बाद भी वो गांव में पानी की समस्या को दूर नहीं कर पाए। यही हाल यहां के मौजूदा विधायक का है।

ये गांव एलनाबाद विधानसभा के लिए आता है, अभय सिंह यहां के विधायक हैं। लोग उन्हें भी गोपनीय बार मिन्नते कर चुके हैं। वो ही अधिकारियों को फोन करके धमका भी देते हैं की नहर में सुचारु रूप से पानी छोड़ देते हैं लेकिन उसके कुछ ही दिन बाद ढाक के वही तीन पाटे। ये खबर आप देश के सबसे तेजी से जारी न्यूज पोर्टल पब्लिक हरियाणा न्यूज पर पढ़ रहे हैं।

अभी डेढ़ साल पहले एक और समाजसेवी मीनू बेनीवाल ने भी गाँव के लोगों से ये वायदा किया की आपकी पानी की समस्या आज से मेरी। उन्होंने कहा की दोनों छोटी नहरों का टेल मैं आगे बढ़वा दूंगा और पानी भी इनमे पूरा करवा दूंगा। ये एलनाबाद में हुए उपचुनाव के दौरान किया गया वादा था जो आजतक वादा ही रहा है।

WhatsApp Group Join Now