Movie prime

 Karnal News: बीजेपी पर बरसे ओपी चौटाला, कहा- इनेलो सरकार में ही खिलाड़ियों को सम्मान मिलता है

 
महागठबंधन पर ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि हम राष्ट्र के भविष्य को उज्ज्वल बनाने का प्रयास कर रहे है. प्रत्येक से अनुरोध करेंगे कि जो भी हमारे साथ शामिल होगा, उसका स्वागत किया जाएगा. हम चाहते है कि तीसरे मोर्चे का गठन हो. सभी राजनीतिक पार्टियों को मैं एकत्रित करने का प्रयास कर रहा हूं. मेरा किसी के कोई द्वेष नहीं है. आज बीजेपी की सरकार है हम उसके खिलाफ लड़ रहे हैं. एक समय ऐसा भी आया था जब केंद्र में बीजेपी की सरकार गिर गई थी और नए सिरे से जब चुनाव हुए थे तो हमने बिना शर्त बीजेपी का समर्थन किया था. साथ ही उन्होंने कहा कि अटल बिहारी प्रधानमंत्री बने थे और उन्होंने हमसे अनुरोध किया था कि आप हमारी सरकार में अपना कोई प्रतिनिधि भेजे, जिसके लिए हमने कोई भी प्रतिनिधि नहीं भेजा. जिस पार्टी के साथ लड़ रहे है उसी की सरकार बनाने में हमने अहम भूमिका भी निभाई थी.
 करना: धरने पर बैठे पहलवानों के समर्थन में लोग, राजनीतिक पार्टियां और कई संस्थान जुड़े हुए हैं। करनाल पहुंचे इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला (ओमप्रकाश चौटाला) ने भाजपा पर जोरदार ध्वनि साधा। दिल्ली के जंतर मंतर पर धरेने पर खिलाडियों के सवाल पर इनेलो सुप्रीमों ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि इस देश में अगर खिलाडियों को मान सम्मान मिला है तो वह सिर्फ इनेलो सरकार में ही मिला है। उन्होंने यह घोषणा की थी कि यदि कोई खिलाड़ी विश्व स्तर पर देश का नाम रोशन करता है और ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतता है तो उसे एक करोड़, रजत पदक विजेता को 50 लाख दिया जाएगा। वहीं कांस्य पदक विजेताओं को 25 लाख रुपए दिए जाएंगे।

हरियाणा प्रदेश की एक महिला ने कांस्य पदक जीता था और इनेलो सरकार ने 25 लाख रुपये दिए थे. इससे बच्चों में हौंसला बढ़ा और हरियाणा के बच्चों ने मेडल हासिल करने के लिए प्रयास किए. जिसका परिणाम यह हुआ कि अगर कहीं पर अंतर्राष्ट्रीय गेम होते हैं तो मेडल जीतने वालों में हरियाणा के खिलाडियों की संख्या ज्यादा होती है. ओमप्रकाश चौटाला ने साथ ही कहा कि कांग्रेस ने मुझे जेल भेजा था.

जेजेपी और बीजेपी के गठबंधन के सवाल पर चौटाला ने चुटकी ली और कहा कि हमारे यहां एक कहावत है कि सारी रात रोई और एक मरा वो भी पडोसियों का. हमारी एक सोच कि कृषि प्रधान देश के किसान को हर प्रकार की सुविधा मिले. स्वर्गीय प्रकाश सिंह बादल आज इस संसार से चले गए और उनके प्रति श्रद्धासुमन अर्पित करते है. वे किसान के लिए अग्रणी नेता थे और मुल्क के आजाद होने के बाद इस मुल्क में उनको सबसे ज्यादा जेल काटनी पड़ी थी. हिंदुस्तान में कोई भी ऐसी जेल नहीं होगी, जहां पर बादल को न रखा गया हो, हम भी उनके नक्शे कदम पर चल रहे हैं और किसानों को हर प्रकार की सुविधा देंगे.

महागठबंधन पर ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि हम राष्ट्र के भविष्य को उज्ज्वल बनाने का प्रयास कर रहे है. प्रत्येक से अनुरोध करेंगे कि जो भी हमारे साथ शामिल होगा, उसका स्वागत किया जाएगा. हम चाहते है कि तीसरे मोर्चे का गठन हो. सभी राजनीतिक पार्टियों को मैं एकत्रित करने का प्रयास कर रहा हूं. मेरा किसी के कोई द्वेष नहीं है. आज बीजेपी की सरकार है हम उसके खिलाफ लड़ रहे हैं. एक समय ऐसा भी आया था जब केंद्र में बीजेपी की सरकार गिर गई थी और नए सिरे से जब चुनाव हुए थे तो हमने बिना शर्त बीजेपी का समर्थन किया था. साथ ही उन्होंने कहा कि अटल बिहारी प्रधानमंत्री बने थे और उन्होंने हमसे अनुरोध किया था कि आप हमारी सरकार में अपना कोई प्रतिनिधि भेजे, जिसके लिए हमने कोई भी प्रतिनिधि नहीं भेजा. जिस पार्टी के साथ लड़ रहे है उसी की सरकार बनाने में हमने अहम भूमिका भी निभाई थी.

WhatsApp Group Join Now