Public Haryana News Logo

हरियाणा-चण्डीगढ़-अंबाला पंजाब के कई स्टेशनों की बदलेगी सूरत,खर्च होंगे 1500 करोड़, ये रही पूरी लिस्ट

 | 
 हरियाणा-चण्डीगढ़-अंबाला पंजाब के कई स्टेशनों की बदलेगी सूरत,खर्च होंगे 1500 करोड़, ये रही पूरी लिस्ट
 

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देशभर के 508 स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखी. इस पर 4,195 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है. जिन स्टेशनों का रीडेवलपमेंट होना है उसमें अंबाला मंडल के भी 16 स्टेशन शामिल हैं. इनके पुनर्विकास पर 900 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. इन स्टेशनों को नई व बेहतर सुविधाओं से लैस किया जाएगा. अंबाला मंडल के स्टेशनों में चंण्डीगढ़ जंक्शन, पटियाला व कालका आदि शामिल हैं.

नई सुविधाओं की बात करें तो यहां रुफ प्लाजा, शॉपिंग जोन, फूड कोर्ट, चिल्ड्रन प्ले एरिया जैसी कई सुविधाएं दी जाएंगी. यात्रियों के लिए एंट्री व एग्जिट गेट बनाए जाएंगे. गाड़ियां खड़ी करने के लिए मल्टी-लेवल पार्किंग की सुविधा विकसित की जाएगी. इसके अलावा स्टेशनों पर लिफ्ट, ऐस्कलेटर, ट्रेवलेटर, एग्जीक्यूटिव लाउंज, वेटिंग एरिया और दिव्यांगजनों के लिए अलग से जरूरी सुविधाएं दी जाएंगी.

कौन से हैं 16 स्टेशन
चण्डीगढ़ जंक्शन पर सबसे अधिक 511.19 करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं. इसके बाद पटियाला (47.51), धूरी जंक्शन (37.62), कालका (32.03), संगरूर (25.51), सरहिंद जंक्शन (25.12), आनंदपुर साहिब (24.21), रूपनगर (23.99), नंगल डैम (23.31), साहिबजादा अजीत सिंह नगर (मोहाली) (23.20), मलेरकोटला (22.93), अम्ब अंदौरा 22.04), यमुनानगर-जगाधरी (22), अबोहर जंक्शन (21.09) और सहारनपुर जंक्शन (15.18). कुल मिलाकर अनुमानित खर्च 899.06 करोड़ रुपये का है.

हरियाणा के इन स्टेशनों कायाकल्प
अंबाला सिटी, भिवानी जंक्शन, फरीदाबाद, हिसार जंक्शन, कालका, बहादुरगढ़, नारनौल, नरवाना जंक्शन, पटौदी रोड, रेवाड़ी जंक्शन, रोहतक जंक्शन, सिरसा और सोनीपत जंक्शन का पुनर्विकास किया जाएगा. हरियाणा के इन स्टेशनों पर 608 करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं.

1309 स्टेशनों का होना है पुनर्विकास
भले ही आज प्रधानमंत्री ने केवल 508 स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखी लेकिन अमृत भारत स्टेशन के तहत देश भर में कुल 1309 स्टेशनों का कायापलट होना है. 508 स्टेशनों पर सरकार 24,470 करोड़ रुपये खर्च करेगी. इन स्टेशनों को सिंटी सेंटर के रूप में विकसित करने की तैयारी है. इसके लिए मास्टर प्लान तैयार किए जा रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कहा है कि जल्द ही सभी रेल लाइनों का विद्युतीकरण भी कर दिया जाएगा. प्रधानमंत्री ने कहा है कि पुनर्विकास देश में रेलवे के बुनियादी ढांचे की कल्पना में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा. बकौल पीएम, यह ‘ईज ऑफ लिविंग’ को बढ़ावा देगा और आराम के साथ-साथ सुविधा भी बढ़ाएगा.

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here