Public Haryana News Logo

5 लाख से लेकर 1 लाख रुपये तक का पूरा लाभ, जानिए पंजाब और हरियाणा के इन साइंटिस्टों की एनआईए को क्यों है तलाश​

 | 
पंजाब में सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड

 पंजाब में मुर्सेवाला हत्याकांड के बाद पूरे देश में नरसंहार मच गया। बड़े-बड़े बच्चों का नाम सामने आएं। गोल्डी बाराड से लेकर लॉरेंस बिश्नोई का नाम सामने आया। इसी बीच कई गैंग और गैंगस्टर्स के लिंक जुड़ते चले गए। कई प्राकृतिक ऐसे हैं, जो विदेश में रहकर भारत के अंदर आपाराधित परंपराएं करवा रहे हैं। ऐसे ही गैंस्टर की तलाश कर रही है। राक्षस ने पंजाब और हरियाणा के असली गैंस्टर्स की लिस्ट जारी की है। 5 लाख से लेकर 1 लाख रुपये तक के पूरक खाद्य पदार्थों के नाम शामिल हैं।
डेलेर कोटिया

दिलेर कोटिया के खिलाफ अलग-अलग थानों में फिरौती मांगने, मारपीट आदि के 11 मामले दर्ज हैं। फिलहाल दलेर कोटिया भारत में नहीं है, वो अमेरिका में बैठकर भारत में अपना रंगदारी का कारोबार चला रहा है। दलेर कोटिया पर असंध के मीनाक्षी अस्पताल में अपने गुर्गे भेजकर गोलियां चलवाने, 2 करोड़ की रंगदारी मांगने का भी आरोप है। हरियाणा में करनाल जिले की तहसील असंध में 18 मई 1997 को दलेर का जन्म हुआ था। वह मेडिकल स्टोर चलाता था लेकिन किसान पिता जरनैल सिंह के मरने के बाद रिश्तेदारों से जमीन को लेकर विवाद हुआ। उसके बाद दलेर ने अपराध की दुनिया में कदम रखा। उत्तर प्रदेश, हरियाणा और हिमाचल में भी दलेर के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। दलेर पर 1 लाख रुपये का इनाम है।
 

​अर्शदीप सिंह गिल​

​अर्शदीप सिंह गिल​


अर्श दल्ला नाम से मशहूर अर्शदीप सिंह गिल के पिता का नाम चरणजीत सिंह है। वह पंजाब के मोगा का रहना वाला है। अर्शदीप सिंह गिल को यूएपीए अधिनियम 1967 के तहत आतंकी घोषित किया है। मौजूदा समय में वह कनाडा में रह रहा है। उसके ऊपर 5 लाख रुपये का इनाम है। यह खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) नामक संगठन से संबंध रखता है। अधिसूचना के मुताबिक अर्शदीप सिंह गिल का आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर से नजदीकी संबंध है और वह उसकी तरफ से आतंकी गतिविधियां चलाता है। अर्शदीप सिंह गिल उर्फ अर्श डल्ला आतंकवादी गतिविधियों के अलावा जघन्य अपराधों जैसे हत्या, जबरन वसूली और टारगेट क‍िल‍िंग में भी शामिल है। यही नहीं अर्शदीप सिंह गिल बड़ी मात्रा में सीमापार से नशीले पदार्थों और हथियारों की तस्करी और आतंकी फंड‍िंग में भी शामिल है।

​दिनेश शर्मा उर्फ गांधी​

​दिनेश शर्मा उर्फ गांधी​


दिनेश शर्मा उर्फ गांधी शिवाजी नगर गुरुग्राम का निवासी है। उसके खिलाफ भी हत्या व लूट जैसे कई मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस को चकमा देने के लिए वह नाम बदलकर रहता है। अली और लकी भी उसके नाम हैं। हरियाणा एसटीएफ के अलावा दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को भी गांधी की तलाश है। कुख्यात गैंगस्टर कौशल गैंग की कमान इन दिनों गांधी संभाल रहा है। उसके ऊपर एक लाख रुपये का इनाम है।

​गौरव पटियाल उर्फ लक्की​

​गौरव पटियाल उर्फ लक्की​


गौरव पटियाल उर्फ लक्की पटियाल मूल रूप से पंजाब का रहने वाला है और इस समय आर्मेनिया में छिपा हुआ है। बंबिहा के एनकाउंटर के बाद बंबिहा गैंग की कमान गौरव उर्फ लकी पटियाल ने संभाली। धनास चंडीगढ़ का रहने वाला लकी गौरव पटियाल पंजाब का बड़ा गैंगस्टर है, जो पहले कत्ल, कत्ल की कोशिश और एक्सटॉर्शन जैसे मामले में जेल में बंद था और फिर आर्मेनिया भाग गया था। गौरव पटियाल के ऊपर 5 लाख रुपये का इनाम है।

​सुखा दुनेके​

​सुखा दुनेके​


सुखदूर सिंह उर्फ सुखा दुनेके के पिता का नाम नाइब सिंह है। वह मोगा जिले के दुनेके गांव का रहने वाला है। इसलिए अपने नाम के आगे दुनेके लगाता है। उसके ऊपर एक लाख रुपये का इनाम है। सुखा दुनेके फर्जी पासपोर्ट बनाकर कुछ समय पहले विदेश भाग गया था।

​​गुरपिंदर सिंह उर्फ बाबा दल्ला​

​​गुरपिंदर सिंह उर्फ बाबा दल्ला​

गुरपिंदर सिंह उर्फ बाबा दल्ला पर एक लाख रुपये का इनाम है। उसके पिता का नाम सुरजीत सिंह है। वह पंजाब के लुधियाना का रहने वाला है। हाथुर के दल्ला गांव के चलते उसका नाम बाबा दल्ला पड़ा। वह कनाडा में छिपा है। एनआईए ने उसके ऊपर एक लाख रुपये का इनाम रखा है।

​​नीरज पंडित​

​​नीरज पंडित​

हरियाणा पुलिस के टॉप गैंगस्टर की लिस्ट में नीरज उर्फ पंडित का नाम है। वह शिवाजी नगर गुरुग्राम का रहने वाला है। एनआईए ने उसके ऊपर 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया है।

​संदीप उर्फ बंदर​

​संदीप उर्फ बंदर​


गैंगस्टर संदीप उर्फ बंदर जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर कौशल गैंग का गुर्गा है। संदीप उर्फ बंदर पर दस मामले दर्ज हैं। जिसमें हत्या , लूट, मारपीट आदि के मामले हैं। वह अभी फरार चल रहा है। उसके ऊपर एक लाख रुपये का इनाम है।

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here