Public Haryana News Logo

पहले घग्गर नदी और अब रंगोई नाले ने बढ़ाई परेशानी! ख़तरे में सिरसा

 | 
खतरे में सिरसा! पहले घग्गर नदी और अब रंगोई नाले ने बढ़ाई चिंता
 

सिरसा: पूरे हरियाणा में बरसात और बाढ़ ने कहर मचाया तो कुछ इलाकों में अब तक राहत नहीं मिल पाई है. लोग अभी भी बेहद परेशान हो रहे हैं. कई गांव बाढ़ की चपेट में आए और लोगों से उनसे आशियाने छीन गए. सिरसा में भी बांध टूटा तो हर किसी की चिंता बढ़ गई.

जिला प्रशासन और ग्रामीण सिरसा को बाढ़ से बचाने के लिए अपने-अपने स्तर पर राहत कार्यों में जुटे हुए हैं. लेकिन अब भी बाढ़ का खतरा टला नहीं है. सिरसा के डीसी पार्थ गुप्ता के मुताबिक शहर के कई गांव बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं और अब बाढ़ का खतरा सिरसा शहर में भी देखने को मिल सकता है.

पानी छोड़े जाने से दिक्कत


जिला के साथ लगते फतेहाबाद जिला से रंगोई नाले का पानी भी सिरसा में लगातार आ रहा है, जिसके बाद सिरसा शहर में अब बाढ़ का खतरा बढ़ गया है. सिरसा के डीसी पार्थ गुप्ता ने बताया कि फिलहाल घग्गर नदी के साथ लगते 49 गांवों में बाढ़ का खतरा बना हुआ है. हालांकि डेढ़ दर्जन गांव बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं. बताया कि सिरसा घग्गर नदी में 50 हजार क्यूसेक पानी है और इसके अलावा सिरसा के साथ लगते पंजाब के सरदूलगढ़ में भी करीब 55 हजार क्यूसेक पानी है, जिस वजह से प्रशासन की चिंताए और बढ़ती जा रही हैं.

स्थिति अब कंट्रोल में


हालांकि, डीसी पार्थ गुप्ता ने दावा किया है कि सिरसा की घग्गर नदी में फिलहाल 6 दिनों के बाद अब स्थिति कंट्रोल में दिखाई दे रही हैं. सिरसा की ओटू हेड से राजस्थान में करीब 22 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा जा रहा है. बाढ़ से बचाव के लिए हरियाणा सरकार द्वारा 50 लाख रुपए की राशि जारी की गई है. जिसके तहत बाढ़ ग्रस्त गांवों में राहत कार्यों में यह राशि सरपंचों को दी जा रही है.

और मांगे गए रुपये


साथ ही प्रशासन ने हरियाणा सरकार से राहत कार्यों के लिए 80 लाख रुपए की डिमांड और की है, जिसकी मंजूरी भी मिल गई है. वहीं, कैबिनेट मंत्री चौधरी रणजीत सिंह चौटाला ने भी सिरसा जिला प्रशासन को अपने मंत्री कोटे से 10 लाख रुपए की राशि बाढ़ ग्रस्त एरिया में राहत कार्यों में प्रयोग करने के लिए दी है.

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here