Public Haryana News Logo

पहलवानों के समर्थन में आज गरजेंगे किसान और खाप पंचायतें, जंतर-मंतर पर बढ़ी हुई सुरक्षा

 | 
धरने की रूप-रेखा को लेकर कमेटी गठित बजरंग पूनिया ने कहा कि धरने की रूप रेखा को लेकर कमेटी बना दी है। पांच सदस्यों की यह कमेटी है। कमेटी के निर्णय ही मान्य होंगे। अलग से कोई निर्णय नहीं होगा। जिससे भी मिलना है वह भी कमेटी तय करेगी। कमेटी सदस्यों के नाम नहीं बता सकते है। दो कमेटियां बनाई है। इस बीच विनेश फोगाट ने कहा कि कमेटी में कुश्ती से जुड़े पुराने खलीफा, कोच, गुरु जिनको देखकर हम ने पहलवानी की है। कुश्ती में सक्रिय लोग ही कमेटी का हिस्सा है। बाहर से कोई भी नहीं है।  पुलिस के साथ की बैठक पहलवानों के धरने से जुड़े चौधरी सुरेंद्र सोलंकी ने बताया कि महापंचायत को लेकर मंच लगेगा। पुलिस के साथ भी एक बैठक हुई है। पुलिस सहयोग के लिए तैयार है। समर्थन देने के लिए आने वाले लोगों से अनुरोध है कि वह माहौल खराब न करें।
 

पहलवानों को न्याय दिलाने और उनके समर्थन में रविवार को जंतर-मंतर पर आयोजित महापंचायत में किसान से लेकर खाप पंचायत प्रतिनिधि गरजेंगे। पहलवानों की ओर से समर्थन में आने वाले लोगों से उत्तेजना में आकर कोई गलत कदम न उठाने की अपील की गई। साथ ही पुलिस से सहयोग का अनुरोध किया गया है। बीते दिन बुधवार रात को पहलवानों और पुलिस के बीच हुई नोकझोंक के चलते बड़ी तादाद में समर्थकों के आने की आशंका जताई जा रही है। इसके अलावा सात मई को देशभर में पहलवानों के समर्थन में शाम सात बजे कैंडल मार्च का आह्वान किया गया है। वहीं धरने की आगे की रूप-रेखा तैयार करने को लेकर पहलवानों की ओर से कमेटी गठित की गई है।

धरना स्थल पर सुरक्षा कड़ी
भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी सहित अन्य दस्तावेजों को लेकर जंतर-मंतर पर शनिवार को भी पहलवानों का 14वें दिन धरना जारी रहा। पहलवानों के समर्थन में पहलवान और कोच महावीर फोगाट समेत कई लोग पहुंचे। हालांकि दोपहर के समय धरना स्थल पर और दिनों की प्रतिबद्धताओं की भीड़ कम दिखती है। वहीं धरना स्थल की ओर निरीक्षण करने वाले पुलिस ने बैरिकेडिंग की सुरक्षा व्यवस्था की कड़ी की है।

पुलिस के साथ करें सहयोग
पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए पत्रकार विनेश फोगाट ने कहा कि आंदोलन को 14 दिन हो गए हैं। रविवार को हमारे समर्थन में बहुत सारे गांवों से खाप पंचायतें, किसान, मजदूर, महिला और छात्र संगठन आ रहे हैं। तो सभी से अपील है कि कोई भी समारोह या उत्साह में आकर गलत कदम न संकल्प लें। अगर पुलिस आपको सुविचारित भी है। तो शांतिपूर्वक और सहयोग से धरने को चलेंगे और आवाज को जगमगाएंगे। हमें ऐसा लगता है कि भीड़ ज्यादा होगी। धरने को तय करने के लिए सहयोग करें। उसे खराब न करें।

माहौल खराब करने वालों पर पुलिस करें उचित कार्रवाई
पुलिस प्रशासन से गुहार है कि लोगों को आने से न रोके। आपके सहयोग से हमारे लोग भी सहयोग करेंगे। ऐसा कोई भी नहीं है जो झगड़ा करेगा। हम सभी से अपील करते है कि कोई भी ऐसा कदम न उठाए। जिससे धरने पर आंच और सच्चाई की लड़ाई में बाधा आए। पहलान बजरंग पूनिया ने कहा कि असमाजिक लोग अगर धरने को खराब करेंगे। तो उसके जिम्मेदार वह खुद होंगे न की आपके खिलाड़ी। उनके साथ पुलिस भी उचित कार्रवाई कर सकती है। पूरे भारत में सात मई को सात बजे कैंडल मार्च निकाला जाएगा।

बयान अभी नहीं हुए दर्ज
महिला पहलवानों ने कहा कि सीआरपीसी की धारा 164 के तहत के बयान अभी दर्ज नहीं हुए है। उसका इंतजार कर रहे है। पुलिस को बयान पूरा करने को लेकर समय-सीमा दी गई है। बयान होंगे तो कार्रवाई होगी। पुलिस प्रशासन से अपील है कि हमारे बयान जल्द से जल्द करवाएं। उनकी तरफ से अभी कोई संपर्क नहीं हुआ है। हम से बात करने पर जरूर जाएंगे।

धरने की रूप-रेखा को लेकर कमेटी गठित
बजरंग पूनिया ने कहा कि धरने की रूप रेखा को लेकर कमेटी बना दी है। पांच सदस्यों की यह कमेटी है। कमेटी के निर्णय ही मान्य होंगे। अलग से कोई निर्णय नहीं होगा। जिससे भी मिलना है वह भी कमेटी तय करेगी। कमेटी सदस्यों के नाम नहीं बता सकते है। दो कमेटियां बनाई है। इस बीच विनेश फोगाट ने कहा कि कमेटी में कुश्ती से जुड़े पुराने खलीफा, कोच, गुरु जिनको देखकर हम ने पहलवानी की है। कुश्ती में सक्रिय लोग ही कमेटी का हिस्सा है। बाहर से कोई भी नहीं है।

पुलिस के साथ की बैठक
पहलवानों के धरने से जुड़े चौधरी सुरेंद्र सोलंकी ने बताया कि महापंचायत को लेकर मंच लगेगा। पुलिस के साथ भी एक बैठक हुई है। पुलिस सहयोग के लिए तैयार है। समर्थन देने के लिए आने वाले लोगों से अनुरोध है कि वह माहौल खराब न करें।

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here