Movie prime

 Pension Update:  पेंशन और ग्रेच्युटी बीजेपी सरकार ने इन सरकारी कर्मचारियों को दी बड़ी खुशखबरी 

 
 NPS: यह ऐलान सरकारी कर्मचारियों के इस साल के विरोध हड़ताल के बाद आई है मध्य प्रदेश मे लगभग 1.50  लाख संविदा कर्मचारियों को स्थायी सरकारी कर्मचारियों के समान लाभ मिलेगा और वार्षिक अनुबंध नवीनीकरण की प्रक्रिया से मुक्त किया जाएगा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में ये घोषणा की.   मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की थी कि राज्य में संविदा कर्मचारियों को स्थायी सरकारी कर्मचारियों के समान लाभ मिलेगा. इसमें नौकरी नियमितीकरण, पेंशन, समान वेतन, ग्रेच्युटी, स्वास्थ्य बीमा और छुट्टी की सुविधाएं शामिल हैं.   एमपी सरकार का ऐलान    यह घोषणा संविदा कर्मचारियों के वर्षों के विरोध प्रदर्शन के बाद आई है. मध्य प्रदेश में लगभग डेढ़ लाख संविदा कर्मचारियों को स्थायी सरकारी कर्मचारियों के समान लाभ मिलेगा और वार्षिक अनुबंध नवीनीकरण की प्रक्रिया से मुक्त किया जाएगा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में ये घोषणा की.  बराबर वेतन   चौहान ने संविदा कर्मचारियों के पक्ष में कई घोषणाएं कीं, जो नौकरियों को नियमित करने के लिए पिछले तीन वर्षों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. सीएम चौहान ने कहा, “भर्ती में संविदा कर्मचारियों के लिए पचास प्रतिशत पद आरक्षित होंगें. उन्हें नियमित कर्मचारियों के बराबर वेतन मिलेगा, सेवानिवृत्ति के दौरान ग्रेच्युटी प्रदान की जाएगी. स्वास्थ्य बीमा मिलेगा, मातृत्व अवकाश सहित उन्हें सभी छुट्टियों की सुविधाएं भी मिलेंगी.”  राष्ट्रीय पेंशन योजना   मुख्यमंत्री ने कहा कि संविदा कर्मचारियों को अब राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) का लाभ दिया जाएगा और नियमित सरकारी कर्मचारियों की तरह स्वास्थ्य बीमा की पेशकश की जाएगी. इसके अलावा किसी कर्मचारी की मृत्यु के मामले में संविदा कर्मचारियों के बच्चे अनुकंपा के आधार पर रोजगार के पात्र होंगे.      पहले से कर रहे थे मांग   बता दें कि संविदा कर्मचारी पिछले तीन वर्षों से नौकरियों को नियमित करने और राज्य सरकार के कर्मचारियों के बराबर लाभ देने की मांग कर रहे थे. भोपाल में संविदा कर्मचारियों के एक सम्मेलन में बोलते हुए सीएम चौहान ने पेंशन, स्वास्थ्य बीमा और ग्रेच्युटी लाभ सहित कई घोषणाएं कीं.
 NPS: यह ऐलान सरकारी कर्मचारियों के इस साल के विरोध हड़ताल के बाद आई है मध्य प्रदेश मे लगभग 1.50  लाख संविदा कर्मचारियों को स्थायी सरकारी कर्मचारियों के समान लाभ मिलेगा और वार्षिक अनुबंध नवीनीकरण की प्रक्रिया से मुक्त किया जाएगा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में ये घोषणा की.
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की थी कि राज्य में संविदा कर्मचारियों को स्थायी सरकारी कर्मचारियों के समान लाभ मिलेगा. इसमें नौकरी नियमितीकरण, पेंशन, समान वेतन, ग्रेच्युटी, स्वास्थ्य बीमा और छुट्टी की सुविधाएं शामिल हैं. 

एमपी सरकार का ऐलान

यह घोषणा संविदा कर्मचारियों के वर्षों के विरोध प्रदर्शन के बाद आई है. मध्य प्रदेश में लगभग डेढ़ लाख संविदा कर्मचारियों को स्थायी सरकारी कर्मचारियों के समान लाभ मिलेगा और वार्षिक अनुबंध नवीनीकरण की प्रक्रिया से मुक्त किया जाएगा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में ये घोषणा की.

बराबर वेतन


चौहान ने संविदा कर्मचारियों के पक्ष में कई घोषणाएं कीं, जो नौकरियों को नियमित करने के लिए पिछले तीन वर्षों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. सीएम चौहान ने कहा, “भर्ती में संविदा कर्मचारियों के लिए पचास प्रतिशत पद आरक्षित होंगें. उन्हें नियमित कर्मचारियों के बराबर वेतन मिलेगा, सेवानिवृत्ति के दौरान ग्रेच्युटी प्रदान की जाएगी. स्वास्थ्य बीमा मिलेगा, मातृत्व अवकाश सहित उन्हें सभी छुट्टियों की सुविधाएं भी मिलेंगी.”

राष्ट्रीय पेंशन योजना


मुख्यमंत्री ने कहा कि संविदा कर्मचारियों को अब राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) का लाभ दिया जाएगा और नियमित सरकारी कर्मचारियों की तरह स्वास्थ्य बीमा की पेशकश की जाएगी. इसके अलावा किसी कर्मचारी की मृत्यु के मामले में संविदा कर्मचारियों के बच्चे अनुकंपा के आधार पर रोजगार के पात्र होंगे.

पहले से कर रहे थे मांग


बता दें कि संविदा कर्मचारी पिछले तीन वर्षों से नौकरियों को नियमित करने और राज्य सरकार के कर्मचारियों के बराबर लाभ देने की मांग कर रहे थे. भोपाल में संविदा कर्मचारियों के एक सम्मेलन में बोलते हुए सीएम चौहान ने पेंशन, स्वास्थ्य बीमा और ग्रेच्युटी लाभ सहित कई घोषणाएं कीं.

WhatsApp Group Join Now