Public Haryana News Logo

8वीं वेतन आयोग: 8वें वेतन आयोग से अच्छी खबर: केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में भारी इजाफा होगा!

 | 
8th Pay Commission: 8वें वेतन आयोग को लेकर आई गुड न्यूज, केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में होगा बंपर इजाफा!
 

नई दिल्ली 8th Pay Commission Latest News: अगर आप केंद्रीय कर्मचारी हैं तो ये खबर आपके लिए राहत भरी हो सकती है। आपको बता दें सरकारी कर्मचारियो की मिनिमम सैलरी में तगड़ा इजाफा हो सकता है। वहीं कमाल की बात ये है कि एक तरफ जोरों से चर्चा हो रही है कि 8वें वेतन आयोग नहीं आयेगा।

हाल ही में खबर आ रही है कि 8वें वेतन आयोग के समय कर्मचारियों की सैलरी में तगड़ा इजाफा होगा और ये इजाफा 6वें वेतन आयोग में हुए इजाफे से भी बड़ा हो सकता है। वहीं खबर आ रही है कि चुनावों के बाद वेतन आयोग के गठन पर चर्चा हो रही है।
सैलरी में होगा तगड़ा इजाफा
8वें वेतन आयोग पर बहराल कोई भी प्रस्ताव नहीं पारित किया गया है। इसका जिक्र संसद में भी हो गया है। सरकारी सूत्रों की मानें कि अभी इस पर चर्चा करना सहीं भी नहीं है। क्यों कि वेतन आयोग के गठन का समय नहीं आया है।

ऐसे में उम्मीद है कि साल 2024 में चुनाव के बाद इसका गठन हो सकता है। इस पर किसी भी तरह का फैसला भी हो सकता है। अगर 8वें वेतन आयोग का गठन होता है तो सैलरी में तगड़ा इजाफा हो सकता है।

अभी करना होगा इंतजार
8वें वेतन आयोग (8th Pay commission) के गठन के लिए कर्मचारियों को 2025 या फिर 2026 तक का इंतजार करना होगा। केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में तगड़ा इजाफा हो सकता है। सूत्रों की मानें तो 7वें वेतन आयोग के मुकाबले 8वें वेतन आयोग में कोई भी बदलाव हो सकता है।

आपको बता दें इसमें फिटमेंट फैक्टर के फॉर्मूले पर सैलरी में इजाफा नहीं होगा। बल्कि किसी दूसरे फॉर्मूले से सैलरी में बढ़ोतरी की जा सकती है। इसके साथ में 10 साल में एक बार वेतन आयोग के गठन को भी बदला सकते हैं। इसे हर साल की तर्ज पर शुरु किया जा सकता है।

क्या हर साल होगा सैलरी में इजाफा
7वें वेतन आयोग के गठन के बाद कर्मचारियों की मिनिमम सैलरी में सबसे कम इजाफा हुआ है। असल में सैलरी को फिटमेंट फैक्टर के हिसाब से बढ़ाया गया है। इसमें इसे 2.57 गुना तय किया गया है। इसे बेसिक सैलरी 18 हजार रुपये कर दी गई है।

अगर किसी भी फॉर्मूले के आधार पर 8वें वेतन आयोग में फिटमेंट फैक्टर की मैक्जिमम रेंज के तहत मिनिमम सैलरी 26 हजार रुपये होगी तो इसके निचले स्तर से कर्मचारियों का सैलरी रिवीजन हर साल परफॉर्मेंस बेसिस पर किया जा सकता है। वहीं मैक्जिमम सैलरी वाले कर्मचारियों का रिवीजन 3 साल के अंतराल पर हो सकता है।

सैलरी में कितना होगा इजाफा
वहीं 8वें वेतन आयोग की बात करें तो यदि सरकार पुराने पैमाने के हिसाब से 8वें वेतन आयोग का गठन करती है तो इसमें फिटमेंट फैक्टर को ही आधार रखा जाएगा। इस आधार पर कर्मचारयों का फिटमेंट 3.68 गुना किया जा सकता है। इस आधार पर कर्मचारियों की मिनिमम सैलरी में 44.44 की बढ़ोतरी हो सकती है। इससे कर्मचारियों की मिनिमम सैलरी 26 हजार रुपये हो सकती है।

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here