Public Haryana News Logo

हरियाणा में 30 जून को दस्तक देगा मानसून: 12 लाख हेक्टेयर में लगेगा धान; विशेषज्ञों ने अच्छी बारिश की संभावना जताई है

 | 
हरियाणा में 30 जून को दस्तक देगा मानसून:12 लाख हेक्टेयर में होगी धान की रोपाई; विशेषज्ञों ने जताई अच्छी बारिश की संभावना
 

मानसून ने गुरुवार को केरल में दस्तक दे दी। हालात अनुकूल रहे तो हरियाणा में भी जून के अंत या जुलाई के प्रथम सप्ताह में मानसून पहुंच जाएगा। मौसम विभाग ने हरियाणा में मानसून को लेकर फिलहाल जो डेट जारी की है, वह 30 जून है। इससे पहले परी मानसून की बारिश की संभावना प्रदेश में बनती है तो लोगो को गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है।

अरब सागर से गुजर रहा तूफान बिपरजोय भी प्रदेश के तापमान को प्रभावित कर सकता है। हालांकि इसको लेकर अभी मौसम विभाग ने कोई फाइनल रिपोर्ट नहीं दी है। पिछले साल की बात करें तो मानसून ने 29 जून को उत्तर की तरफ से हरियाणा में प्रवेश किया था। 30 जून को यह रेवाड़ी, महेंद्रगढ़ में बरसने लगा था।

जून के आरंभ में बारिश का दौर गुजर जाने के बाद से ही प्रदेश के लाेग भीषण गर्मी का सामना कर रहे हैं। गुरुवार को राहत भरी खबर आयी कि मानसून ने केरल में प्रवेश कर लिया है। IMD के अनुसार दक्षिण पश्चिम मानसून दक्षिण अरब सागर के शेष हिस्सों और मध्य अरब सागर के कुछ हिस्सों, पूरे लक्षद्वीप क्षेत्र, केरल के अधिकांश हिस्सों, दक्षिण तमिलनाडु के अधिकांश हिस्सों, कोमोरिन क्षेत्र के शेष हिस्सों, मन्नार की खाड़ी और कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ गया है।

केरल के बाद इस तरह आगे बढ़ेगा मानसून।

केरल के बाद इस तरह आगे बढ़ेगा मानसून।

8 दिन की देरी से पहुंचा केरल

इसमें कोई बड़ा बदलाव नहीं होता है तो अब मानसून 20 से 25 दिनाें में पूरे देश को कवर कर लेगा। आईएमडी ने मानसून के दौरान अच्छी बारिश की संभावना जताई है। आईएमडी का फिलहाल का अनुमान है कि हरियाणा में मानसून 30 जून काे आएगा। हालांकि केरल में मानसून 8 दिन की देरी से आया है।

अब ये हैं हालात

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि मध्य अरब सागर के कुछ और हिस्सों, केरल के शेष हिस्सों, तमिलनाडु के कुछ और हिस्सों, कर्नाटक के कुछ हिस्सों और दक्षिण-पश्चिम के कुछ और हिस्सों, मध्य और पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी और कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। अगले 48 घंटों के दौरान पूर्वोत्तर राज्यों की ओर बढ़ जाएगा।

हरियाणा में 15 से धान की रोपाई

हरियाणा में धान की बिजाई 15 जून से शुरू हो जाएगी। किसानों की पौध तैयार है और अब वे बारिश का इंतजार कर रहे हैं। 30 जून तक मानसून की बारिश शुरू हाे जाती है तो किसानों का धान की रोपाई का काम जल्द निपट जाएगा। पानी के लिए अन्य संसाधनों पर निर्भर रहने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। हरियाणा में करीब 12 लाख हेक्टेयर में धान की रोपाई की जाती है।

कृषि विभाग ने अकेले सोनीपत में ही इस साल 90 हजार हेक्टेयर (2.20 लाख एकड़) जमीन पर धान की खेती का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए किसानों को पौध तैयार करने की अब छूट है। इससे पहले विभाग द्वारा भी उर्वरक कंपनियों को डाई और यूरिया की आपूर्ति का आदेश दिया गया है।

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here