Public Haryana News Logo

हरियाणा के जींद में झमाझम ओलावृष्टि, जनजीवन अस्त-व्यस्त, देखें वीडियो

 | 
BREAKING:
 

रियाणा प्रदेश के जींद में हुई भारी ओलावृष्टि, जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त

हरियाणा प्रदेश के जींद जिले में अभी भारी ओलावृष्टि होने की खबर आ रही है। जींद जिले में ओलावृष्टि ने ऐसा कहर ढाया है कि वहां की कई पीढ़ियों तक इसे याद रखा जाएगा।

अपना पत्रकार टीम को मिली जानकारी के अनुसार जींद जिले में पिछले लगातार आधे घंटे से ओलावृष्टि जारी है। मौसम विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के चलते पहले ही इस प्रदेश के लोगों को सूचना दी थी कि 19 और 20 अप्रैल को हरियाणा प्रदेश के जींद, रेवाड़ी, सिरसा, सोनीपत, फतेहाबाद आदि जिलों में भारी बारिश और ओलावृष्टि हो सकती है।

आज हुई इस ओलावृष्टि ने जिले के जलालपुर कला, इंटलकला, गांव के लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। यहां पर इतनी भारी ओलावृष्टि हुई है कि कहीं पर भी जमीन नजर नहीं आ रही है। चारों तरफ जमीन पर बर्फ की सफेद चादर चढ़ गई है।

ऐसी ओलावृष्टि जींद में पहले कभी नहीं हुई थी जो आज हुई है।

चारों तरफ नजर आ रही है बर्फ की बर्फ

आज हुई ओलावृष्टि के बाद जींद जिले के खेतों के साथ-साथ गांव की गलियों में सड़कों पर हर जगह चारों तरफ बर्फ ही बर्फ नजर आ रही है। किसानों की गेहूं की फसलें आज हुई इस ओलावृष्टि के बाद जमीन में समा गई हैं।

ओलावृष्टि से प्रभावित इस क्षेत्र के गांवों में ऐसा लग रहा था मानो यहां स्नोफॉल हो रहा हो। इस ओलावृष्टि ने लोगों के घरों को भी भारी नुकसान पहुंचाया है।

जींद जिले के खेतों में फसलों का भारी नुकसान

जींद में आज हुई भारी ओलावृष्टि के बाद किसानों के खेतों में फसलों का भारी नुकसान हुआ है। इस ओलावृष्टि ने संपूर्ण फसल को दबा कर जमीन में समाहित कर दिया है। जिन किसानों की गेहूं की फसल खेतों में अभी तक खड़ी है उन फसलों में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है।

आपको बता दें कि मौसम विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के चलते हरियाणा में ऑरेंज अलर्ट जारी कर रखा है। जिसके चलते 21 अप्रैल तक हरियाणा के कुछ जिलों में भारी बारिश और ओलावृष्टि की संभावना बता रखी है।

आज सुबह से ही बादलों की घनघोर घटा ने हरियाणा प्रदेश को अपनी चपेट में ले लिया था। हरियाणा के कई जिलों में आज सुबह से लगातार बादल छाए हुए थे। लेकिन कहीं से ओलावृष्टि की खबर नहीं आई थी। लेकिन शाम होते-होते किसानों ने ऐसी ओलावृष्टि का सामना किया जिसने उनकी फसलों के साथ-साथ उनके घरों और मवेशियों को भी काफी नुकसान पहुंचाया है।

अब इस जिले के गांव जलालपुर कला, इंटलकला आदि के खेतों में चारों तरफ बर्फ के अलावा किसी को और कुछ नजर नहीं आ रहा। यह भी कुदरत का एक नजारा ही है कि जींद शहर में अभी तक एक बूंद भी नहीं गिरी है, और जींद शहर से 10 किलोमीटर की दूरी पर भारी ओलावृष्टि हुई है।

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here