Public Haryana News Logo

सरकार कृषि यंत्रों पर दे रही है बम्पर सब्सिडी किसानों के लिए आई बड़ी ख़ुशख़बरी

 | 
 इसी कड़ी में मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों को खेती की मशीनों पर बंपर सब्सिडी देने का फैसला किया है.  सरकार की ओर से ई-कृषि यंत्र अनुदान स्कीम के तहत किसानों को खेती की मशीनों पर 30 से 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है.   सरकार के नोटिफिकेशन के मुताबिर पात्र किसानों का चयन लॉटरी के माध्यम से किया जाएगा.   मध्य प्रदेश सरकार किसानों को ई-कृषि यंत्र अनुदान के तहत किसानों को सब्सिडी देती है.   यह इस अनुदान के लिए पहले सरकार रजिस्ट्रेशन के माध्यम से पात्र किसानों का चयन करेगी.   उसके बाद लॉटरी के तहत किसानों कृषि यंत्र मुहैया कराया जाएगा.   कृषि यंत्रों पर सब्सिडी हासिल करने के लिए किसानों को मध्य प्रदेश सरकार की किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा.   किसानों को सुपर स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम, हैप्पी सीडर, सुपर सीडर, जीरो टिल सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल, श्रव मास्टर, पैडी स्ट्रॉ चॉपर, श्रेडर, मल्चर, रोटरी स्लेशर, हाइड्रोलिक प्लाऊ, बेलिंग मशीन, क्रॉप रीपर, स्ट्रॉ रेक और रीपर कम बाइंडर जैसी मशीनों पर अनुदान दिया जाएगा.  ई-कृषि यंत्र अनुदान स्कीम के तहत किसानों को खेती की मशीनों पर 30 से 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है.   अगर रुपये की बात करें तो मध्य प्रदेश सरकार प्रत्येक कृषि यंत्रों पर तकरीबन 40 से 60 हजार तक का अनुदान दे रही है.  आपको बता दें कृषि यंत्र के आने से खेती में किसानों के समय की बचत हो रही है.    इसके किसानों की लागत में भी कमी आई, जिसके चलते किसानों के मुनाफे में भी इजाफा हुआ है.
 

खेती में नई-नई मशीनों के आने के बाद किसानी आसान हुई है. 

हालांकि, इन मशीनों को खरीदना हर किसान की बस की बात नहीं है. 

ऐसे में सभी किसानों की खेती की मशीनों तक पहुंच हो इसके लिए केंद्र और राज्य सरकारों की तरफ से किसानों को खेती की मशीनों पर सब्सिडी दी जाती है. 


इसी कड़ी में मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों को खेती की मशीनों पर बंपर सब्सिडी देने का फैसला किया है.

सरकार की ओर से ई-कृषि यंत्र अनुदान स्कीम के तहत किसानों को खेती की मशीनों पर 30 से 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है. 

सरकार के नोटिफिकेशन के मुताबिर पात्र किसानों का चयन लॉटरी के माध्यम से किया जाएगा.


मध्य प्रदेश सरकार किसानों को ई-कृषि यंत्र अनुदान के तहत किसानों को सब्सिडी देती है. 

यह इस अनुदान के लिए पहले सरकार रजिस्ट्रेशन के माध्यम से पात्र किसानों का चयन करेगी. 

उसके बाद लॉटरी के तहत किसानों कृषि यंत्र मुहैया कराया जाएगा. 

कृषि यंत्रों पर सब्सिडी हासिल करने के लिए किसानों को मध्य प्रदेश सरकार की किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा.


किसानों को सुपर स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम, हैप्पी सीडर, सुपर सीडर, जीरो टिल सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल, श्रव मास्टर, पैडी स्ट्रॉ चॉपर, श्रेडर, मल्चर, रोटरी स्लेशर, हाइड्रोलिक प्लाऊ, बेलिंग मशीन, क्रॉप रीपर, स्ट्रॉ रेक और रीपर कम बाइंडर जैसी मशीनों पर अनुदान दिया जाएगा.

ई-कृषि यंत्र अनुदान स्कीम के तहत किसानों को खेती की मशीनों पर 30 से 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है. 

अगर रुपये की बात करें तो मध्य प्रदेश सरकार प्रत्येक कृषि यंत्रों पर तकरीबन 40 से 60 हजार तक का अनुदान दे रही है.

आपको बता दें कृषि यंत्र के आने से खेती में किसानों के समय की बचत हो रही है. 


इसके किसानों की लागत में भी कमी आई, जिसके चलते किसानों के मुनाफे में भी इजाफा हुआ है.

अपने शहर से जुड़ी हर बड़ी-छोटी खबर के लिए

Click Here